The New Black

मिट्टी में मिला दी देश की इज्ज़त,
घर में क्या कम पलीद थी
कि स्विट्जरलैंड में कर दी,
तथाकथित बड़े उद्योगपति,
तथाकथित देश को चलाने वाले,
पार्टियों को जेब में रखते हैं,
कथित तौर पर शासकों पर शासन करते हैं.
सच सामने आ गया ना,
नाक कट गई आखिर.

क्यों किया इतना बड़ा धोखा,
क्यों सिकुड़ा दिया विश्व समुदाय के सामने
जो हमें उभरती मानती थी,
महाशक्तिशाली आर्यावर्त भारत,
उस महाशक्ति के महाशक्ति
और स्विस बैंक में एकाउंट
क्या चला जाता अगर थोड़ा और रखते
१००-२०० करोड़ तो चवन्नी है
इतना तो एक आईएएस दम्पती के
पलंग के नीचे से निकला,
और वो पच्चीस करोड़ किसका था, छी छी,
हमारे दारोगा की जेब उस से गहरी है,
ऐसे खुल्ले के लिए विदेश में एकाउंट
जितना बड़ा नाम, उतना छोटा एमाउंट
औकात बता दी न सबको
कहते हैं जितना व्हाईट है,
उसका दस गुना ब्लैक होता है,
तुम्हारे ब्लैक ने तो मुंह ही काला करा दिया

अब तो हमें दुनिया को दिखाना ही पड़ेगा,
बाकी नामों को भी बाहर लाना ही पड़ेगा
ताकि कल सिर उठा कर कह सकें,
इमानदारी का हाल कुछ खास नहीं पर
बेईमानी तो हम ठीक ठाक करते हैं
उड़ती बात है कुल २५ लाख करोड़ हैं,
इसलिए बाकी का हिसाब भी दो,
भारत माँ को कोई जवाब भी दो!
वो समझेगी दीवाली में भी दिवाला है,
चिंदीचोर हैं सब, फिर भी मुंह काला है,
उसको समझाओ कि माँ घबरा मत
मन काला है, धन भी काला है,
जो केजरीवाल ने निकाला है,
वो कच्चा चिट्ठा है, पक्का नहीं है,
कि हाथी के दांत खाने के और हैं,
खातों में नाम असली है तो काला कैसे
फर्ज़ी नामों से खाते छिपाने के और हैं.

Advertisements

One Comment

  1. अब वक़्त आ गया है की जिस तरह थाईलैंड में जिस्मफरोशी को क़ानूनी मान्यता दी गयी है वैसे ही यहाँ भारत में भी काले धन को वाइट मान लिया जाए, घूसखोरी को क़ानूनी रूप से मान्यता दे दी जाए।

    Reply

Say something!

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s