धौरे मरदे

IMG_20160419_163024

धौर मर्दे, धौर मर्देनतन, धौरे मरदे मनबढ़ुआ के बढ़ गइलै मन धौरे मरदे भोली सूरत धोखा खाने को काफी है उसके ऊपर ये भोलापन धौरे मरदे दंगल है इस बात पे जंगल राज बहुत है मंगल-मंगल कब था ये वन धौरे मरदे दफा करो बेवफा भला क्या रफू करेंगे सदियों से सदचाक है दामन धौरे …

Read more »